जिन बच्चों का हम इलाज करते हैं, (जिन्हें आहार नली नहीं लगी हुई है) उनमें से कुछ बहुत ही थोड़ा या नहीं के बराबर खाना खाते हैं. इनमें से कई बच्चों को “पनपने में असफल” करार दे दिया गया होता है, जिसका मतलब है कि उनका वजन तीसरे प्रतिशतक के नीचे है.

इन बच्चों को आहार नली लगाये जाने का खतरा होता है. क्योंकि एक आहार नली के उपयोग से न केवल खाने के व्यवहार से संबंधित, बल्कि बच्चे के शारीरिक स्वास्थ्य के लिए भी अनेक प्रकार की अतिरिक्त समस्याएं पैदा हो जाती हैं, अतः हम आहार की मात्रा को तुरंत पनपने के स्तर तक लाने के लिए कार्य करते हैं. हमारा मानना है कि आहार नली अपरिहार्य है, जब तक मुंह से खाना असुरक्षित न हो.

सघन बनाम गैर-सघन उपचार

पर्याप्त मात्रा में भोजन नहीं खा रहे शिशुओं या बच्चों के लिए – सघन या गैर सघन – किस उपचार की जरूरत है, यह सेवन के स्तर, एक आहार नली लंबित है या नहीं, और परिवार कहाँ रह रहा है, इस पर निर्भर करता है.

उदाहरण के लिए, यदि सेवन के स्तर से बच्चे का वजन तेजी से गिर रहा है, या पहले से ही एक आहार नली लगाना निर्धारित किया गया है, तो ऐसे में हम सघन इलाज की सिफारिश करते हैं. यदि माता-पिता शहर से बाहर रहते हैं, तो भी हम सिफारिश करते हैं कि इलाज सघन आधार पर हो; उपचार के निर्बाध रूप से चलने के लिए यह आवश्यक है.

सघन लचीलापन

कभी कभी, एक-दो सत्रों के बाद मामले की जटिलता अधिक स्पष्ट हो जाती है. यदि प्रति सप्ताह तीन बार पर्याप्त नहीं है, तो अपेक्षित परिणाम प्राप्त होने तक हम सघन उपचार की सिफारिश करते हैं. जब हम सघन आधार पर एक मरीज का इलाज करते हैं, तो इलाज और माता पिता का प्रशिक्षण सफलतापूर्वक पूरा हो जाने तक एक भी दिन की छुट्टी नहीं की जाती.

आहार चिकित्सा पूर्ण होने की समय सीमा

अधिकांश ‘पनपने में असफल’ बच्चों के मामले (आहार नली के बिना) चार से छह सप्ताह के गैर सघन उपचार के बाद (सप्ताह में तीन बार) या दो से तीन सप्ताह (सप्ताह के सातों दिन) के सघन उपचार के बाद ठीक हो जाते हैं. अगर बच्चा बहुत कम मात्रा में खा रहा है और अभी तक ‘पनपने में असफल’ करार नहीं दिया गया है, तो ऐसे बच्चों के लिए भी समय सीमा यही रहती है.

हम क्या सुधार करते हैं

infant refusing to eatअगर आपके बच्चे का वज़न उसके चिकित्सक की बताई दर से नहीं बढ़ रहा है, तो हमारा लक्ष्य ठोस और तरल पदार्थों की मात्रा और कैलोरी बढ़ाना होगा. ऐसी स्थिति में हम ठोस और तरल पदार्थों की विविधता पर ध्यान केंद्रित करने को प्राथमिकता नहीं देते. इसका अर्थ यह कदापि नहीं है कि विविधता पर कोई ध्यान नहीं दिया जायेगा, लेकिन हम अधिक कैलोरी वाले खाद्य पदार्थ और तरल पदार्थ शुरू करने को प्राथमिकता देंगे.